बागपत/ शुक्रवार, २१ जनवरी/ अखिलेश सरकार के खिलाफ वीरपाल राठी ने किया था अर्धनग्न प्रदर्शन, RLD से टिकट मिलने के बाद कटा

सचिन त्यागी, बागपत समाजवादी पार्टी की सरकार के खिलाफ विधानसभा में अर्धनग्न होकर प्रदर्शन करने वाले छपरौली से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। यह वही भूतपूर्व विधायक वीरपाल राठी हैं जिन्होंने गन्ना भुगतान के लिए विधानसभा में सपा सरकार के खिलाफ कपड़े निकाल दिए थे और अर्धनग्न होकर अखिलेश सरकार के खिलाफ खुलकर आग उगली थी। आज वही विधायक सपा सरकार के साथ मिलकर किसानों की लड़ाई लड़ने का दावा कर रहे हैं। ऐसे में विधायक का यह दावा छपरौली के किसानों के गले नहीं उतर रहा है। छपरोली के लोगों ने इसकी शिकायत दिल्ली में बैठे से की है और प्रत्याशी बदलने की मांग भी उठाई है। वर्ष 2012 में रालोद के टिकट पर वीरपाल राठी विधायक बने थे। उस दौरान उन्होंने बसपा प्रत्याशी देवपाल को 21571 वोटों से हराया था। ऐसे में रालोद ने एक बार फिर से वर्ष 2022 में विस चुनाव में छपरौली सीट पर वीरपाल राठी को ही अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। उधर टिकट होने के दूसरे दिन ही मंगलवार को छपरौली क्षेत्र से काफी संख्या में लोग दिल्ली स्थित जयंत चौधरी के आवास पर पहुंचे और उनसे मुलाकात कर छपरौली का टिकट बदलने को कहा। आरोप लगाया कि वीरपाल राठी का पूर्व का कार्याकाल अच्छा नहीं रहा है। हालांकि रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने कहा कि प्रत्याशी का विरोध करने वालों के खिलाफ अनुशासनहीनता में कार्यवाही की जाएगी। पार्टी का निर्णय सर्वमान्य होगा। चौधरी चरण सिंह की विरासत सीट बचाने की जिम्मेदारी वीरपाल राठी पर पार्टी की इज्जत बचाने की ही नहीं चौधरी चरण सिंह की विरासत सीट बचाने की जिम्मेदारी भी है। इस सीट से कभी पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह ने अपना पहला चुनाव लड़ा था। चौधरी अजित सिंह ने भी अपना पहला विधानसभा यहीं से लड़ा। यह सीट रालोद का गढ़ है। छपरौली से वीरपाल राठी का टिकट कटापार्टी की ओर से पूर्व विधायक वीरपाल राठी को से चुनाव लड़ने का मौका दिया गया था। लेकिन विधानसभा के लोगों की ओर से दिल्ली पहुंचकर उनके टिकट पर एतराज जताया गया। इसके बाद रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने विधानसभा क्षेत्र के लोगों का सम्मान करते हुए वीरपाल राठी के स्थान पर प्रोफेसर अजय कुमार को रालोद से प्रत्याशी घोषित कर दिया है। बीजेपी प्रत्याशी ने ली चुटकी रालोद की ओर से प्रत्याशी बदलने को लेकर भाजपा प्रत्याशी सहेंद्र सिंह ने चुटकी लेते हुए कहा है कि रालोद को अब छपरौली में भी डर सताने लगा है। इसीलिए वह आए दिन चेहरे बदल रहे हैं लेकिन रालोद की हार निश्चित है। छपरोली में अब रालोद का गढ़ नहीं बीजेपी की लहर है।

दिवाली के कपड़ों पे 70% तक की छूट।



बागपत की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें