बुधवार, २४ नवंबर, यूपीः आजमगढ़ के 20 किसानों को नहीं मिलेगी किसान सम्मान निधि, इन्होंने किया ये काम

आजमगढ़ में बुधवार को पराली जलाने के मामले में किसानों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। उप कृषि निदेशक संगम सिंह ने बताया कि जनपद में 20 किसान फसल अवशेष जताते पाए गए हैं। उनको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभ से वंचित करने की संस्तुति की गई है। 

दिवाली गिफ्ट पे पाएं 50% तक छूट



राष्ट्रीय हरित अधिकरण के निर्देशों का उल्लंघन कर खेत में फसल अपशिष्ट (पराली) जलाने वाले किसानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का प्राविधान है। फसल अवशेष जलाने के मामले में लसड़ा खुर्द के संजय सिंह व बसंता सिंह, नरवे गांव के मेवालाल,बृजेश कुमार, मन्नू, धन्नू, सन्नू एवं जयराम,  विसहम मिर्जापुर के हाजी मटरू, अस्पतपुर के राजेंद्र, ग्राम भादो की नूरजहां पत्नी मुहम्मद सुल्तान , ग्राम खोजापुर के संजय पासवान, ग्राम धरनीपुर रानीपुर के ओमप्रकाश, ग्राम गजहीपुर के रामबहादुर तिवारी , ग्राम शेखपुर मलपुरा के गिरिजेश कुमार,  ग्राम धरवारा के अशोक सिंह को पराली जलाते हुए पाया गया था।

उप कृषि निदेशक संगम सिंह ने बताया कि इनकी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत दी जा रही धनराशि तथा कृषि विभाग द्वारा संचालित दूसरी योजनाओं के लाभ से वचिंत करने की संस्तुति अपर कृषि निदेशक, राज्य नोडल अधिकारी पीएम किसान से की गई है। इसके अलावा एसडीएम से जुर्माना वसूल करने को कहा गया है। 


यूपी की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें