प्रयागराज/ गुरुवार, २५ नवंबर/ तैयारी शुरू : प्रयागराज और कानपुर जंक्शन का होगा कायाकल्प, मिलेगी एयरपोर्ट सरीखी सुविधाएं 

हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं से सुसज्जित हुए भोपाल के रानी कमलापति रेलवे स्टेशन की तर्ज पर प्रयागराज जंक्शन का भी कायाकल्प होगा। यहां 400 करोड़ रुपये की लागत से एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं यात्रियों को दी जाएंगी। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। बृहस्पतिवार से रेलवे द्वारा स्टेशन के डेवलपमेंट के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी।

दिवाली के कपड़ों पे 70% तक की छूट।



उत्तर मध्य रेलवे जोन ने अपने दो प्रमुख रेलवे स्टेशनों प्रयागराज जंक्शन और कानपुर सेंट्रल को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए यहां एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं यात्रियों को उपलब्ध करवाई जाएंगी। वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के पूर्व प्रयागराज जंक्शन का कायाकल्प किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। यहां होने वाले तमाम कार्यों के  लिए 25 से 30 नवंबर 21 तक टेंडर प्रक्रिया होगी।

दरअसल प्रयागराज जंक्शन को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने की योजना वर्ष 2018 में ही बनी थी, लेकिन वर्ष 2019 में लगे कुंभ और उसके बाद कोरोना संक्रमण काल की वजह से इसमें कुछ काम नहीं हो सका। अब एनसीआर प्रशासन ने इन दोनों ही स्टेशनों को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित करने की तैयारी की है। जंक्शन के सिटी साइड में रेलवे द्वारा इस दौरान कई कार्य किए जाएंगे। 
यह प्रमुख कार्य होंगे प्रयागराज जंक्शन में 
यहां एक मल्टी स्टोरी इमारत का निर्माण कर वहां एक ही छत के नीचे यात्रियों के ठहरने, खाने एवं जरूरी वस्तुओं की खरीदारी की सुविधा दी जाएगी। इस दौरान रूट वाइज ट्रेनों के यात्रियों के आने एवं जाने का रास्ता बनाया जाएगा। इस व्यवस्था से कुंभ मेले के दौरान भी यात्रियों को सहूलियत होगी। जंक्शन पर लिफ्ट और एस्केलेटर की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। जंक्शन के सिटी साइड के साथ सिविल लाइंस साइड में आधुनिक प्रतीक्षालय का भी निर्माण होगा। तकरीबन 100 यात्रियों की क्षमता वाले डारमेंट्री का निर्माण, सभी प्लेटफार्म पर साधारण टिकट की खरीदारी के लिए एटीवीएम आदि की भी व्यवस्था की जाएगी। दोनों साइड में पिकअप और ड्राप प्वाइट लेन का निर्माण, प्रीपेड टैक्सी बूथ और आधुनिक सुविधाओं से युक्त वाहन पार्किंग भी बनाई जाएगी। 

स्टेशन डेवलपमेंट कारपोरेशन नहीं करेगा काम 
जंक्शन और कानपुर सेंट्रल स्टेशन को विकसित करने का काम पहले इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कारपोरेशन को करना था, लेकिन अब यह कार्य उत्तर मध्य रेलवे जोन अपने स्तर से करेगा। प्रयागराज और कानपुर स्टेशन प्रयागराज मंडल के ही अधीन है। इस वजह से यहां होने वाले सारे कार्य की मॉनीटरिंग डीआरएम प्रयागराज की ही रहेगी। 

मंडल के प्रयागराज जंक्शन और कानपुर सेंट्रल के डेवलपमेंट का कार्य होना है। यहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं यात्रियों को उपलब्ध करवाई जाएंगी। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया अब शुरू होने जा रही है। - मोहित चंद्रा, डीआरएम,  प्रयागराज मंडल ।


प्रयागराज की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें