आगरा/ गुरुवार, ०५ अगस्त/ लेडी लॉयल में ओपीडी में प्रवेश से रोकने पर मरीजों ने किया हंगामा

आगरा। लेडी लॉयल की ओपीडी में बुधवार को भारी अव्यवस्था रही। इलाज के लिए तीन-चार घंटे तक इंतजार करना पड़ा। भीड़ बढ़ने के कारण ओपीडी के गेट पर तैनात गार्ड ने मरीजों को अंदर जाने से रोक दिया। इस पर मरीजों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। जानकारी होने पर प्रभारी ने मरीजों को प्रवेश करने दिया।

बारिश के छाता पर 45% तक छूट प्राप्त करें।


लेडी लॉयल में बुधवार को 600 से अधिक मरीज आए। काउंटर पर पर्चा बनवाने में करीब डेढ़ घंटा लगा। ओपीडी आए तो यहां भी भारी भीड़ थी। गेट के बाहर ही मरीज जमीन पर बैठ गए। डेढ़ घंटे तक भी नंबर नहीं आया तो मरीज अंदर जाने लगे। इस पर गार्ड ने रास्ते को डंडे से रोक दिया। यह देख मरीज भड़क गए और हंगामा करने लगे। धक्का-मुक्की होने से मरीजों को परेशानी भी हुई। जानकारी पर प्रभारी ने मरीजों को प्रवेश कराया।
लेडी लॉयल में ओपीडी के बाहर बैठने के लिए पर्याप्त सीटों की व्यवस्था नहीं की है। यहां पर इलाज में औसतन दो से तीन घंटे लग जाते हैं, ऐसे में लाइन में खड़े होकर परेशान होने पर गर्भवती महिलाएं जमीन पर ही बैठने को मजबूर हैं।
डॉक्टरों के चेंबर में मरीजों की अधिक भीड़ होने पर गार्ड ने ऐसा किया होगा। गार्ड को मरीजों को ओपीडी तक व्यवस्थित ढंग से पहुंचाने के लिए हिदायत देती हूं। बैठने की भी व्यवस्था कराई जा रही है। - डॉ. रेखा गुप्ता, एसआईसी लेडी लॉयल
काजीपाड़ा निवासी रूबी ने बताया कि सुबह नौ बजे आई, पर्चा बनवाने में करीब डेढ़ घंटा लग गया। ओपीडी पहुंची तो यहां भी 12 बजे तक इंतजार करती रही। बैठने तक के लिए व्यवस्था नहीं है। गार्ड ने रास्ता ही रोक दिया।
गोकुलपुरा निवासी रेखा देवी ने बताया कि सवा नौ बजे आकर पर्चा बनवाने के लिए लाइन में लगी। यहां दो घंटे में पर्चा बना। इसके बाद ओपीडी आई तो यहां भी डेढ़ घंटा इंतजार करना पड़ा, लाइन में खड़े होने से परेशानी और बढ़ गई।

आगरा की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें