लखनऊ/ मंगलवार, ३० नवंबर/ लखनऊ : पुरानी पेंशन के लिए महारैली आज, एक लाख से ज्यादा शिक्षक-कर्मचारी लेंगे हिस्सा

कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच के बैनर तले आज लखनऊ के ईको गार्डन में महारैली होगी। मंच के अध्यक्ष डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा और कर्मचारी नेता हरिकिशोर तिवारी ने कहा कि शिक्षकों और कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली समेत विभिन्न मांगों को आज तक नहीं माना गया है। महारैली में एक लाख से ज्यादा शिक्षक-कर्मचारी हिस्सा लेंगे।

दिवाली सजावटी रोशनी पर 45% तक छूट प्राप्त करें।



कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच, बुलंदशहर के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने बताया कि जनपद के प्रत्येक विकास क्षेत्र से एक बस में शिक्षक लखनऊ जाएंगे। मंच की मुख्य मांग पुरानी पेंशन बहाली, कैशलेस चिकित्सा सुविधा, शिक्षामित्रों और अनुदेशकों सहित संविदाकर्मियों को स्थायी करना, संविलियन विद्यालय निरस्त करना, शिक्षकों की पदोन्नति, रसोइयों का मानदेय दस हजार करना, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ओर सहायिकाओं का मानदेय बढ़ाना आदि लंबित हैं। 

जिला मंत्री बाबू सिंह ने कहा कि कर्मचारियों और शिक्षकों की जायज मांगों का निस्तारण नहीं होने से उनमें रोष व्याप्त है। बैठक में जिला कोषाध्यक्ष देवेंद्र शर्मा, जिला उपाध्यक्ष कौशल किशोर, जिला मीडिया प्रभारी अरुण राठी, उदयवीर सिंह, अमित यादव, अनिता त्यागी, चिंतन चौधरी, सीमा बधोतिया, महेश चौधरी, नजर अब्बास, जगवीर सिंह, सुदेश कुमार, अनुपम शर्मा, सुनीता सोलंकी, सुधा मौर्य, राजेंद्र कुमार और विनित कुमार आदि पदाधिकारी शामिल रहे।

किसानों के आंदोलन के बाद अब शिक्षक कर्मचारी अधिकारी पेंशनर्स अधिकार मंच मऊ ने भी सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। शिक्षक कर्मचारी अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच के जिलाध्यक्ष कृष्णानंद राय ने शुक्रवार को सरकारी कार्यालयों के साथ ही ब्लाक मुख्यालयों का दौरा कर शिक्षकों की बैठक लिया। साथ ही धरने में शामिल होने के लिए शिक्षकों, कर्मचारियों से समर्थन मांगा।

कहा कि जिले के प्रत्येक ब्लाक से एक-एक बस की गई है। प्रत्येक ब्लाक मुख्यालय से 29 नवंबर की शाम बस से शिक्षक, कर्मचारी लखनऊ कूच करेंगे। कहा कि कृषि कानूनों की तरह न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) व्यवस्था को वापस लेकर लाखों लाख शिक्षकों-कर्मचारियों व अधिकारियों को बुढ़ापे में पुरानी पेंशन का संबल प्रदान कराना है।


लखनऊ की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें