कानपुर नगर/ गुरुवार, २५ नवंबर/ क्रोमियम कचरा निस्तारण के लिए आईआईटी की सहमति से तय होगी भूमि

रनियां (कानपुर देहात)। अकबरपुर तहसील के खानचंद्रपुर में खुले में एकत्र क्रोमियम कचरे के निस्तारण के लिए उपयुक्त भूमि का आईआईटी की सहमति पर चयन होगा। तहसील प्रशासन पांच स्थानों पर भूमि देख चुका है। खानचंद्रपुर के नजदीक भूमि मिले यह प्राथमिकता है। इसके लिए आईआईटी विशेषज्ञ व यूपीसीडा के अफसर जल्द क्षेत्र का दौरा करेंगे।

दिवाली के कपड़ों पे 70% तक की छूट।


नगर पंचायत रनियां के खानचंद्रपुर में मटियामऊ रोड पर छह फैक्टरियों का 63 हजार मीट्रिक टन क्रोमियम कचरा डंप है। इसकी वजह से भूगर्भ जल दूषित हो गया है। एनजीटी ने कचरा डंप करने वाली फैक्टरी संचालकों पर 280 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था। अभी जुर्माना जमा नहीं हो सका है।
क्रोमियम कचरे के निस्तारण की जिम्मेदारी शासन ने यूपीसीडा को दी है। वहीं क्रोमियम कचरा आईआईटी के विशेषज्ञों की निगरानी में निस्तारित होगा। 17 नवंबर को आईआईटी की तकनीकी व विशेषज्ञों की टीम ने यूपीसीडा के अफसरों के साथ खानचंद्रपुर का दौरा किया था।
इसमें क्रोमियम कचरा डंप स्थल के पास खाली पड़ी भूमि को प्राथमिकता दी थी। इस पर तीन लेखपालों की टीम ने इस भूमि की पैमाइश की। मौके पर ग्राम समाज की 14 बीघा भूमि मिली है। हालांकि क्रोमियम कचरा निस्तारण के लिए करीब 25 बीघा भूमि की जरूरत है।
रनियां क्षेत्र के कई स्थानों व कुंभी में अकबरपुर सदर व राजस्व टीम ने भूमि देखी है। तहसील से भूमि का प्रस्ताव आने के बाद आईआईटी की विशेषज्ञ टीम भूमि देखेगी। सहमति बनने पर भूमि का चयन किया जाएगा। - संजय तिवारी, अधिशासी अभियंता यूपीसीडा
अकबरपुर के कुंभी गांव में क्रोमियम कचरा निस्तारण के लिए जरूरत के अनुसार भूमि देखी है। वहां 15 एकड़ भूमि उपलब्ध है। आईआईटी विशेषज्ञ व यूपीसीडा के अफसरों के निरीक्षण में उपयुक्त होने पर भूमि का चयन किया जाएगा। - वागीश कुमार शुक्ला, एसडीएम अकबरपुर

कानपुर नगर की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें