आगरा/ गुरुवार, २५ नवंबर/ आगरा: खोदाई के दौरान मिट्टी की ढाय गिरने से दबा मजदूर, साथियों ने निकाला, अस्पताल में भर्ती

आगरा के जीवनी मंडी वाटर वर्क्स से कमला नगर तक 1600 एमएम व्यास की पाइपलाइन बिछाने के लिए की गई खोदाई में मिट्टी की ढाय गिरने से मजदूर दब गया। बुधवार को जेसीबी से खोदाई के दौरान सुरक्षा के इंतजाम न करने और लापरवाही बरतने से गिरी ढाय में चार मजदूर फंस गए, जिनमें से इटावा निवासी शैलेंद्र कुमार दब गया। बाकी साथियों ने शैलेंद्र को बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया।

दिवाली के कपड़ों पे 70% तक की छूट।



नेशनल हाईवे के नीचे से ट्रेंचलेस तकनीक से पानी की पाइपलाइन निकालने के लिए बुधवार को जलनिगम की वर्ल्ड बैंक इकाई ने खोदाई शुरू कराई। गहरी खोदाई में प्लेट न लगाने से यहां काम कर रहे मजदूर शैलेंद्र के ऊपर मिट्टी की ढाय गिर गई। इससे चीखपुकार मच गई। 

नीचे फंसे मजदूरों ने शैलेंद्र को मिट्टी से बाहर निकाला और निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया, जहां अब उसकी हालत खतरे से बाहर है। जलनिगम विश्व बैंक इकाई के परियोजना प्रबंधक महेश कुमार गौतम ने बताया कि पाइपलाइन बिछाने के काम के दौरान मिट्टी गिर गई थी, लेकिन मजदूर सुरक्षित है और खतरे से बाहर है। ठेकेदार को सुरक्षा के पूरे इंतजाम करने के साथ ही काम करने को कहा गया है।


आगरा की पल पल की ख़बरों के लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

facebook.com/upkikhabarlive

सम्बंधित खबरें